हिंदी कार्यशाला - डॉ प्रभात कुमार द्वारा

विषय - हिंदी विषय में रुचि जागृत करने हेतु

२१ जुलाई २०१६ को हिंदी दिवस के अवसर पर श्रीमती मालिनी श्रीधर और विभागाध्यक्ष श्रीमती करुणा मिश्रा की अध्यक्षता में हिंदी कार्यशाला का आयोजन किया गया। इस अवसर पर हंसराज महाविद्यालय के सेवानिवृत्त प्रवक्ता डॉ प्रभात कुमार को आमंत्रित किया गया। उन्होंने छात्रों को हिंदी भाषा के महत्त्व का ज्ञान दिया। प्रारम्भ में श्रीमती हनी यादव ने डॉ प्रभात कुमार के स्वागत में कुछ पंक्तियाँ कहीं और जीवन में गुरु का महत्त्व बताया। डॉ प्रभात कुमार ने हिंदी भाषा के राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर बढ़ते प्रचार प्रसार से छात्रों को अवगत करवाया। कार्यशाला का आरम्भ प्रार्थना से हुआ। इसके उपरान्त एक गतिविधि द्वारा कार्यशाला आरम्भ हुई। कार्यशाला द्वारा छात्रों ने हिंदी का विभिन्न क्षेत्रों में महत्त्व जाना व् इसके भविष्य की भी जानकारी प्राप्त की। छात्रों ने बहुत रुचि से ध्यान पूर्वक सम्पूर्ण वक्तव्य को सुना। उन्होंने छात्रों के समक्ष विश्व हिंदी पत्रिका प्रदर्शित की , जिसका प्रकाशन मॉरीशस के एक हिंदी छात्र गुलशन कुमार द्वारा किया जाता है , वह छात्र दिल्ली के ही हंसराज कॉलेज से एम. ए. हिंदी कर चुका है। इस पत्रिका के अनुसार हिंदी विश्व की प्रथम भाषा के रूप में स्थापित है। इस पत्रिका में भारत के साथ - साथ पूरे विश्व से लेखक हिंदी में रचनाएँ भेजते हैं। यह छात्र विश्व हिंदी सचिवालय का सचिव है। डॉ प्रभात ने हिंदी में भविष्य निर्माण की अनेक संभावनाएं बताईं, जिन्हें छात्रों ने ध्यान पूर्वक सुना और वे लाभान्वित हुए। उन्होंने अपने वक्तव्य का अंत एक प्रेरणादायक कविता के माध्यम से किया। कार्यशाला के अंत में श्रीमती सुप्रिया गुप्ता ने डॉ प्रभात को धन्यवाद कहा। एक खुशनुमा माहौल के साथ कार्यशाला समाप्त हुई।

hindi divas